*****उम्मीद की किरण*****


****उम्मीद ,👍ही तो है, जो मैदान छोड़कर जाते हुए को कहती है
चल एक कोशिश👍 ओर करके देखते हैं,
क्या पता? इस उम्मीद
के साथ शायद☺ इस बार हम जीत जायें ,और वही उम्मीद
हमारी कोशिश की चाबी होती है । जो हमारी किस्मत का
ताला खोलने वाली आखिरी चाबी होती है ।

*****उम्मीदें जिन्दगी की भी खास बात होती है।
हारने वाले के हमेशा साथ होती है ।

जीत की उम्मीद देकर हारते हुए को जीता देती है ,
डूबने वाले को तैरना सिखा देती है
आशा की किरण बनकर संघर्ष करना सिखा देती है ****


टिप्पणियाँ


  1. जीत की उम्मीद देकर हारते हुए को जीता देती है ,
    डूबने वाले को तैरना सिखा देती है
    आशा की किरण बनकर संघर्ष करना सिखा देती है ****

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत खूब ,
    हिन्दी ब्लॉगिंग में आपका लेखन अपने चिन्ह छोड़ने में कामयाब है , आप लिख रही हैं क्योंकि आपके पास भावनाएं और मजबूत अभिव्यक्ति है , इस आत्म अभिव्यक्ति से जो संतुष्टि मिलेगी वह सैकड़ों तालियों से अधिक होगी !
    मानती हैं न ?
    मंगलकामनाएं आपको !
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद हिन्दी ब्लॉग जगत का जिसने लिखने को खुला आसमान दिया आभार । आभार हिन्दी ब्लॉग जगत के समस्त सदस्यों को ।

      हटाएं
  3. शायद इसीलिए कहते हैं उम्मीद जिन्दा रहनी जरूरी है ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. जी दिगाम्बर नवासा जी आभार

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

" आत्म यात्रा "

**औकात की बात मत करना **