पोस्ट

education लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वक़्त बदलता है

वक़्त के बदलते रूप  वक़्त कभी एक सामान नहीं रहता  वक़्त का पहिया निरंतर चलता ही रहता है वक़्त बदलना प्रकृति का नियम है  वक़्त बदलना आवयश्कता का रूप है वक़्त एहसास कराता है 
धूप छांव दिन-रात साक्षात उदहारण है,  बदलते वक़्त के .... युग बदलते हैं ,सभ्यता संस्कृति सोच  एवम् कार्य करने के ढंग बदलते है  वक़्त एवम् काल नए आविष्कारों के भी जननी है आवयश्क है वक़्त का बदलना भी  बदलाव एवम् परिवर्तन हमें एहसास कराता है की आज सुख है तो कल कष्ट भी हो सकता है  कहीं रास्ते समतल है तो कहीं पथरीले भी हो सकते हैं  कहीं ऊंचे पहाड़ तो कहीं गहरी खाई  भी हो सकती है ,सुख-दुःख हार-जीत  मनुष्य को जीवन सहनशीलता एवम्  धैर्य  के गुण सिखाता है बचपन,जवानी,बुढ़ापा,मानव जीवन के रथ का  पहिया जो नए रूप दिखाता है  स्वस्थ जीवन मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी संपत्ति है किसी काल में कोई महामारी  मनुष्य प्राणों पर करती है प्रहार   संयम,धैर्य,एवम् सावधानी ही होता है जिसका उपचार बदलते संसार का बदलता व्यवहार
यूं तो कभी नहीं रुकता संसार

"बिचौलियों से अनुरोध इसे व्यापार ना बनाए"

भगवान के बाद यदि धरती पर किसी को दूसरा स्थान मिला है , तो  है  '' चिकित्सक  यानि डॉक्टर ''  इस पद की मर्यादा को ध्यान में रखते हुए योग्यता को प्राथमिकता   दी जाए ।  ना की नोटों के बण्डल को ।  
 इसकी गुणवत्ता से खिलवाड़ ,स्वयं व् समाज के                                 साथ खिलवाड़ ।