🎉🎉 नम्हो वीणा वादिनी 🎉🎉

🌺🌺🎉 नम्हो वीणा वदीनी 🌺🌺🎉


🎉🎉नम्हो वीणा वादिनी
नम्हो हंस वहिनी
नम्हो शान्ति देवी ,सरला ,निर्मला
जिस प्रकार आपकी वीणा से निकलते

सुर सम्पूर्ण आभा मण्डल को पवित्र करते हैं
सुख ,शान्ति,करुणा,और प्रेम का सन्देश देते रहते हैं
तो हे ,सरस्वती माता ,हमें भी ऐसा वर दो

की हम मनुष्यों की मन ,वाणी ,वचन से जो भी स्वर
निकले वो मीठा ,मधुर सुख ,शांति ,का सन्देश लिये
सबके हित में हो ।
नम्हो वीणा वादिनी ।🎉🎉🎉🎉🎉🎉

टिप्पणियाँ



  1. हमें भी ऐसा वर दो कि हम मनुष्यों की मन ,वाणी ,वचन से जो भी स्वर
    निकले वो मीठा ,मधुर सुख ,शांति ,का सन्देश लिये सबके हित में हो। बहुत सुंदर

    जवाब देंहटाएं
  2. अमीन ...
    वर दे वीणा वादिनी वर दे ... माँ तो सभी को वर देती है पर हम भूल जाते हैं ... वसंत पंचमी की हार्दिक बधाई ...

    जवाब देंहटाएं
  3. धन्यवाद दिगम्बर जी ,आपको भी बसंत पंचमी की बधाई

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत ही सुंदर पंक्तियां

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

👍 बचपन के खट्टे मीठे अनुभव👍😉😂😂

" हम जैसा सोचते हैं ,वैसा ही बनने लगते हैं "

"आज और कल"