तुम ना बदलना मेरे अपनों


   बदलेंगी तिथियां बदलेंगे वर्ष
बदलेंगे दिन बदलेंगी रातें
पर तुम ना बदलना
मेरे अपनों तुमसे मेरे जीवन
में प्रेमरस ...
शाश्वत प्रेम की धाराओं में
जीवन की नव नूतन आशाओं
से रोशन रहे जीवन का हर पल
सहर्ष ...
नई खुशियों की नई तारीखें
लेकर आए यह वर्ष

शुभ हो सबके लिए नववर्ष ...

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

" हम जैसा सोचते हैं ,वैसा ही बनने लगते हैं "

" कुदरत के नियम "

👍 बचपन के खट्टे मीठे अनुभव👍😉😂😂